viagra pas cher
  • A-
  • A
  • A+

सेवा समाचार

भिलाई नगर. आत्मा रूपी दीप की ज्योति सदा जगी हुई हो

 

भिलाई नगर. आत्मा रूपी दीप की ज्योति सदा जगी हुई होहमें बहुत मीठा बनना हैकिसी के भी अवगुण नहीं देखने है. भिलाई सेवा केन्द्रों की मुख्य संचालिका ब्रह्माकुमारी आशा ने दिवाली के उपल्क्ष्य में आयोजित पीस ऑडिटोरियम में कहा. आगे आपने चार चार प्रकार के दीपों के बारे में बताते हुए कहा कि पहला स्थूल दीपक है जो बाहार के अंधकार को मिटाता है. दूसरा  कुल का दीपक  होता है तीसरा आशाओं का दीपक है और सबसे महत्वपूर्ण है आत्मा का दीपक जो हमारे अंतर के अंधकार को मिटाता है. इस आत्मा के दीपक को प्रकाशित करना ही सच्ची दिवाली मानना है. इससे  विश्व में शांति और आपसी प्रेम बढ़े।

 

बी के चंद्रू दीदी ने अपने अंदर के अंधकार को कैसे परमात्मा की याद से दूर करें, यह बताया.

भारत से बाहर भी दीपावली का उत्सव मनाया जाता है. ब्रम्हाकुमारिज के अनुभूति रिट्रीट सेंटर नार्दर्न केलिफोर्निया में इस दीपावली पर २०० से अधिक लोग एकत्रित हुए. बी के चंद्रू दीदी ने अपने अंदर के अंधकार को कैसे परमात्मा की याद से दूर करें, यह बताया. सिस्टर एलिजाबेथ और क्योयो ने ओडिसी नृत्य किया तथा सभा में लक्ष्मी तथा नारायण के स्वरूप का भी दीदार कराया.

मनमोहिनीवन काम्प्लेक्स को ग्रीन बिल्डिंग का अवार्ड

आबू रोड.  पर्यावरण की दृष्टि से इको फ्रेन्डली, बेहतरीन इलीवेशन, पानी, बिजली के सुरक्षित ब्रह्माकुमारीज संस्था द्वारा निर्मित मनमोहिनी वन तथा आनन्द सरोवर को इंडियन ग्रीन बिल्डिंग काउन्सिल की ओर से ग्रीन बिल्डिंग का सम्मान मिला है। यह अवार्ड जयपुर में आयोजित कार्यक्रम में दिया गया। यह अवार्ड ब्रह्माकुमारीज संस्था के मुख्य अभियन्ता बीके भरत को दिया।

ब्रह्माकुमारीज संस्था का मनमोहिनीवन तथा आनन्द सरोवर परिसर में करीब पांच हजार से भी ज्यादा पौधे तथा फल फूल वाले वृक्ष लगाये गये हैं। इसके साथ ही बाग बगीचे, पानी, निकास  तथा बिजली एवं फायर सेफ्टी की बेहतरीन व्यवस्था है। सात हजार आवासीय इस बिल्डिंग का निर्माण पांच वर्ष पूर्व हुआ था। ब्रह्माकुमारीज पहला आध्यात्मिक संस्थान है जिसके दो भवनों को इस अवार्ड से नवाजा गया है।

कुरुक्षेत्र के विश्व शान्ति धाम में “शाश्वत यौगिक खेती “ का कार्यक्रम आयोजित किया गया

कुरुक्षेत्र के विश्व शान्ति धाम में  “शाश्वत यौगिक खेती “ का कार्यक्रम आयोजित किया गया इस कार्यक्रम का उद्देश्य किसानो को सशक्त बनाना है. इस कार्यक्रम में 600 से ज्यादा किसानो ने शाश्वत यौगिक खेती और जैविक खेती के बारे में जाना कि हमें रासायनिक खादों का प्रयोग नहीं करना चाहिए. इस   कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप –प्रज्ज्वलन से करते हुए राजयोगी भ्राता राजेंदर प्रसाद, महामहिम राज्यपाल ,हिमाचल प्रदेश, माननीय आचार्य देवव्रत ,राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी राज बहन (सब जोन इन्चार्ज,अमृतसर) एवम अन्य.

ह्माकुमारीज के सारणी सेवाकेंद्र द्वारा नव्ररात्री के पवन पर्व पर नौ चैतन्य देवियों

ब्रह्माकुमारीज के सारणी सेवाकेंद्र द्वारा नव्ररात्री  के पवन पर्व पर नौ चैतन्य देवियों की  40 फीट ऊँची इस झांकी में ब्रह्माकुमारी  बहनों को देवियों के रूप में सजा कर स्थापित किया गया . इस झांकी में सभी देवियों का लाइट एंड साउंड इफ्फेक्ट के द्वारा अलग अलग प्रगटीकरण दिखाया गया है. सारणी सेवा केंद्र की संचालिका बी viagra pas cher के सुनीता बहन ने बताया कि इस झांकी के दर्शन  60 हजार से अधिक लोगो ने  किये है   और कई लोगो ने देवी के सामने अपने जीवन के बुरइयो और व्यसनों का त्याग करने का संकल्प लिया है .इस झांकी के उद्घाटन समारोह में शाजापुर से पधारी बी के प्रतिभा बहन , बेतुल से बी के मंजू  बहन, सारणी ताप विद्युत गृह के मुख्या अभियंता भ्राता हेमंत पाठक , मुख्य महाप्रबंधक  वेस्टर्न कोल फील्ड  भ्राता उदय कुमार कावले ,सारणी  नगर पालिका अध्यक्ष बहन आशा भारती, आदि कि उपस्थिति में हुआ

मध्य प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान एवं उनकी धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह चौहान ने...

मध्य प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान एवं उनकी धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह चौहान ने कहा कि यह चेतन्य देवियों कि झांकी समाज में नारी के उत्थान व शशक्तिकरण के लिए एक सराहनी कार्य कर रही हैं. ब्रह्माकुमारीज रिवेरा टाउनशिप सेवा केंद्र की इंचार्ज राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी तृष्णा बहन ने बताया कि हर धार्मिक पर्व एक ईश्वरीय सन्देश लेकर आता है. हर उत्सव हम सभी मनुष्य आत्माओं को ईश्वर के और अधिक निकट जाने का अवसर देता है.नवरात्रि की यह चैतन्य देवियों की झांकियां भी इसीलिए सजाई जाती हैंए कि हर नर.नारी स्वयं के अंदर झांक कर देख सकेए कि क्या मैं देवी माँ का बेटा या बेटी कहलाने योग्य कर्म कर रहा हूँ. ऐसी ही यह झांकी है प्रजा पिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय भोपाल की शाखा रिवेरा टाउनशिप की. 

यह कार्यक्रम चिकत्सकों के लिए दवा के साथ दुआ और योग की महत्ता को स्पस्ट करने के लिए आयोजित था

मेडीकप्स यूनिवर्सिटी के कुलाधिपति डॉ रमेश मित्तल प्रजापिता ब्रम्हाकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की भगनी संस्था राजयोग शिक्षा एवं शोध प्रतिष्ठान के मेडिकल विंग के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए. यह कार्यक्रम चिकत्सकों के लिए दवा के साथ दुआ और योग की महत्ता को स्पस्ट करने के लिए आयोजित था.

कालानी नगर इंदौर में चैतन्य देवियों की झांकी को बहुत लोगो ने देखा और सराहा. देवियाँ मूर्ति नहीं वर्ण चैतन्य देविया ही थे

कालानी नगर इंदौर में चैतन्य देवियों की झांकी को बहुत लोगो ने देखा और सराहा. देवियाँ मूर्ति नहीं वर्ण चैतन्य देविया ही थे. राजयोग की महिमा है.