• A-
  • A
  • A+

सेवा समाचार

शान्ति एवम आनंद की प्राप्ति में सहायक है मीडिया

 

 

 

 

 

 

 

 

आबू रोड। ब्रह्माकुमारीज़ के मीडिया प्रभाग द्वारा आयोजित महासम्मेलन के उद्घाटन सत्र में मुख्य वक्ता सोसायटी आफ मीडिया इनीशियेटिव फार वेल्यूज के राष्ट्रीय संयोजक प्रो. कमल दीक्षित ने कहा कि बारूद के ढेर पर बैठी दुनिया को तबाही से बचाने का दम मीडिया में है । जरूरत इस बात की है कि हम चिन्तन करें और समाज को सही दिशा की  ओर ले जाने का नेक नीयती से प्रयास करें। आध्यात्मिक प्रज्ञा एवं राजयोग द्वारा शांति तथा आनंद की प्राप्ति में मीडिया की भूमिका विषय पर आयोजित सम्मेलन मे प्रभाग के अध्यक्ष ब्र. कु. करूणा भाई ने कहा कि सत्यम शिवम सुन्दरम का बोध कराने वाली ब्रह्माकुमारी संस्था का ज्ञान मीडिया के माध्यम से प्रत्येक मनुष्य तक पहुँचायें और भारत की प्राचीन व समृद्ध संस्कृति को सामने लाते हुए स्वर्णिम भारत बनाने में सहयोग करें ।

संस्था के महासचिव ब्र. कु. निर्वेर भाई ने कहा कि दुनिया में नकारात्मकता व हिंसा के बढ़ते प्रभाव का कारण यह है कि अधिकतर लोगों की सोच सकारात्मक नहीं रही मीडिया मात्र सूचना देने तक सीमित न रहकर समाज को सुधारने और लोगों को सही जीवनशैली अपनाने के लिए प्रेरित करे। चार पूर्व प्रधानमन्त्रियों के सूचना सलाहकार रहे एस. नरेन्द्र ने कहा कि ब्रह्माकुमारी संस्था विश्व शांति का सन्देश पूर्ण निष्ठा व लगन से प्रसारित कर रही है।     

 

एक शुभ संकल्प हजारों नकारात्मक विचारों से ज्यादा शक्तिशाली होता है

इंदौर । माईंड व मेमोरी प्रबंधन के लोकप्रिय युवा ट्रेनर शक्तिराज सिंह ने ब्रम्हाकुमारिज के ओमप्रकाश भाई सभागार में श्रेष्ठ मन श्रेष्ठ भविष्य के लिए आयोजित सेमिनार में बताया कि हम अपने मन की शक्ति को पहचानकर जीवन को ख़ुशी तथा सफलता से भरपूर कर सकते हैं. सकारात्मक सोच और मैडिटेशन ही इसका आसान उपाय है. नकारात्मकता और अपने को नहीं पहचानने के कारण हम दुखी तथा असफल होते हैं. तनाव, चिंता आदि से मुक्त होने का चुनाव भी हम ही कर सकते हैं. जो कुछ अच्छा बुरा व्यवहार हमें मिलता है वह सब हमारे पूर्व जन्मों का कार्मिक हिसाब ही है।

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईष्वरीय विष्व विद्यालय के तत्वावधान में षिक्षक दिवस पर षिक्षक सम्मान समारोह

बूंदी-  एवं षिक्षा में आध्यात्मिकता विषय पर संगोष्ठी का आयोजन सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि बाबूलाल जी वर्मा, खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री राजस्थान सरकार, विषिष्ट अतिथि पुलिस उपअधीक्षक नरपत सिंह,   बून्दी केन्द्र प्रभारी कमला दीदी ने दीप प्रज्जवलन करके किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी कमला दीदी ने कहा कि समाज में षिक्षक की अहम भूमिका होती है। मात -पिता के बाद षिक्षक ही बच्चों का मार्ग दर्षक होता है। तो षिक्षक उनको जीवन जीने की कला सिखाते है। उन्होने मुल्य आधारित षिक्षा पर जोर देते हुए कहा व्यक्ति व समाज कल्याण के लिए आध्यात्मिक एवं नैतिक मूल्यों की षिक्षा देनी चाहिए। षिक्षकों को तिलक ,माला ,श्रीफल, मूल्यो आधारित पोस्टर भेट कर सम्मान किया। 

गीता का युद्ध हिंसक था या अहिंसक तथा उसकी वर्तमान में क्या प्रासंगिकता है

भोपाल गीता का युद्ध हिंसक था या अहिंसक तथा उसकी वर्तमान में क्या प्रासंगिकता है इसको समझाने के लिए एक बृहत् सम्मलेन आयोजित हुआ. संस्कृत तथा गीता के विद्वानों ने अपने उदाहरणों से बताया कि यह युद्ध अपने ही विकारों को समाप्त करने के लिए था. गीता इस समय की बुराइयों को समाप्त करने और देवताई समाज बनाने की प्रेरणा देता है. ब्र्म्हाकुमारिज के बी के बृजमोहन भाई, डॉ पुष्पा पांडे, बी के अवधेश बहन सहित अन्य विद्वानों ने अपनी बात कही. बी के रीना ने सभी को योग कि अनुभूति भी कराई. 

.ज्ञान सरोवर ( आबू पर्वत ) ब्रह्माकुमारीज एवं मेडिकल विंग के संयुक्त तत्वावधान में चिकित्सकों का एक अखिल भारतीय सम्मेलन हुआ।

ज्ञान सरोवर आबू पर्वत ) ब्रह्माकुमारीज एवं मेडिकल विंग के संयुक्त तत्वावधान में चिकित्सकों का एक अखिल भारतीय सम्मेलन हुआ। सम्मलेन का मुख्य विषय था -" माइंड ,बॉडी ,मेडिसिन -करिश्मा सृजन -जीवन उत्सव " . इस सम्मलेन में बड़ी संख्या में चिकित्सा से जुड़े प्रतिनिधिओं ने भाग लिया .ब्रह्मा कुमारीज के कार्यकारी सचिव राजयोगी मृत्यंजय जी ने कहा कि यह सम्मेलन जीवन उत्सव को मनाने का सम्मेलन है। अगर आपने मैडिटेशन सीख लिया तो हर जन्म में आप हर प्रकार की परेशानी से मुक्त हो जाएंगे। आत्मा की सारी बीमारी समाप्त हो जायेगी। राजयोगिनी दीदी डॉक्टर निर्मला, निदेशक ज्ञान सरोवर ने कहा कि आज कल अधिकांश रोगी - मानसिक नकारात्मकता के कारण बीमार पड़ रहे हैं। उनको दवा के साथ साथ नकारात्मकताओं से मुक्ति का भी मार्ग बताना चाहिए। मैडिटेशन हमारी मदद करता है। इससे हमारी बीमारियां समाप्त होती हैं। केंसर विशेषग्य डॉक्टर अशोक मेहता सहित बहुत चिकित्सकों ने अपने उदगार व्यक्त किये।यह सुझाव भी दिया कि प्रत्येक अस्पताल में एक ध्यान कक्ष होना चाहिए जहां रोगी अपनी आतंरिक शांति को महसूस कर सकें.

योग गुरु बाबा रामदेव का प्रजापिता ब्रम्हाकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय भिलाई केंद्र पर भारतीय संस्कृति के अनुरूप स्वागत किया गया

भिलाई. योग गुरु बाबा रामदेव का प्रजापिता ब्रम्हाकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय भिलाई केंद्र पर भारतीय संस्कृति के अनुरूप स्वागत किया गया. इस अवसर पर बाबा रामदेव ने कहा कि यह समय है जब हमें सबको मिलकर समाज को अन्धविश्वास से लोगो को बहार निकालना है और कुरीतियों को समाप्त करना है. इंदौर जोन की प्रमुख बी के कमला बहन ने कहा कि जहाँ पवित्रता के साथ परमात्मा से योग है वहा प्रकृति भी हमारा साथ देती है. भिलाई केंद्र कि प्रमुख बी के आशा ने केंद्र की सेवाओं से बाबा को परिचित कराया.

त्रिआयामी हृदयोपचार कार्यक्रम के प्रणेता और ग्लोबल हास्पीटल माउण्ट आबू के हृदयरोग विशेषज्ञ डॉ. सतीश गुप्ता ने कहा

रायपुर : त्रिआयामी हृदयोपचार कार्यक्रम के प्रणेता और ग्लोबल हास्पीटल माउण्ट आबू के हृदयरोग विशेषज्ञ डॉ. सतीश गुप्ता ने कहा कि हृदयरोग की बीमारी का अगर यही हाल रहा तो आने वाले समय में दुनिया के कुल हृदयरोगियों में साठ प्रतिशत संख्या भारतीयों की होगी। हृदयरोग से बचने के लिए जीवनशैली को बदलना जरूरी है। डॉ. गुप्ता ब्रह्माकुमारीज रायपुर के शान्ति सरोवर में आयोजित दो दिवसीय त्रि-आयामी स्वास्थ्य समारोह में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे।उन्होंने बाईपास सर्जरी को सिर्फ टाईम पास बतलाते हुए कहा कि हृदयरोग का प्रमुख कारण है तनावचिन्तागुस्सा और उदासी। इसे जीवन शैली दवा और योग से ठीक किया जा सकता है. अब सोलमाइण्डबाडी और मेडिसीन  के सिद्घान्त को भारत सरकार ने भी स्वीकार किया है। उन्होंने इसे नेशनल प्रोग्राम ऑफ लाईफस्टाइल्स घोषित किया है। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) रायपुर के डायरेक्टर डॉ. नितिन मोहन नागरकर ने कहा कि विदेशों में हुई रिसर्च से यह सिद्घ हुआ है कि दवाई के बिना भी रोगों का उपचार किया जा सकता है। क्षेत्रीय निदेशिका ब्रह्माकुमारी कमला दीदी ने सभी अतिथियों का स्वागत किया।

दादी प्रकाश मणि की ११ वी पुण्यतिथि पूरे देश और दुनिया में मनाई गई

दादी प्रकाश मणि की ११ वी पुण्यतिथि पूरे देश और दुनिया में मनाई गई. भोपाल में भी रोहित नगर में बड़ी संख्या में लोगो ने अपनी भाव भीनी श्रधान्जली  व्यक्त की और पुष्प अर्पित किये. केंद्र की प्रमुख बी के रीना ने दादी के गुणो और उनकी सेवाओं के बारे में विस्तार से बताया.

केंद्रीय मंत्री सामाजिक न्याय एवम अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार माननीय थावरचंद जी गेहलौत को ईश्वरीय सौगात देते हुये ब्रह्माकुमारी प्रतिभा बहन.

केंद्रीय मंत्री सामाजिक न्याय एवम अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार माननीय थावरचंद जी गेहलौत को ईश्वरीय सौगात देते हुये ब्रह्माकुमारी प्रतिभा बहन. ब्रह्माकुमारी चंदा बहन. ब्रह्माकुमार दीपक भाई एवम डा. जी आर अम्बावतीया जी. क्रषि विज्ञान केन्द्र शाजापुर मे संकल्प से सिद्धि  कार्यक्रम मे ब्रह्माकुमारी बहनों को आमंत्रित किया गया.