• A-
  • A
  • A+

गीता का युद्ध हिंसक था या अहिंसक तथा उसकी वर्तमान में क्या प्रासंगिकता है

भोपाल गीता का युद्ध हिंसक था या अहिंसक तथा उसकी वर्तमान में क्या प्रासंगिकता है इसको समझाने के लिए एक बृहत् सम्मलेन आयोजित हुआ. संस्कृत तथा गीता के विद्वानों ने अपने उदाहरणों से बताया कि यह युद्ध अपने ही विकारों को समाप्त करने के लिए था. गीता इस समय की बुराइयों को समाप्त करने और देवताई समाज बनाने की प्रेरणा देता है. ब्र्म्हाकुमारिज के बी के बृजमोहन भाई, डॉ पुष्पा पांडे, बी के अवधेश बहन सहित अन्य विद्वानों ने अपनी बात कही. बी के रीना ने सभी को योग कि अनुभूति भी कराई.