viagra pas cher
  • A-
  • A
  • A+

प्रसार क्षेत्र / कवरेज एरिया

प्रसार क्षेत्र / कवरेज एरिया 

 

 

 

 

 

 

   राजीख़ुशी वेब के साथ ही प्रिंट के रूप में है. एकदम शुरू में प्रिंट का पाठक परिवार लगातार तेजी से बढ़ता गया और अब वेब साईटwww.rajikhushi.in का विजिटर काउंटर लगातार बढ़ता जा रहा है. इसे शुरू में 30000 पाठक पढ़ रहे थे जो पहले वर्ष ही बढ़ कर 60000 हो गए. उसके बाद से हर महीने दो से तीन हजार नये पाठक जुड़ते गए हैं. वेब पर इसके विजिटर या पाठक एक हजार प्रति दिन थे. यह संख्या लगातार बढ़ती चली गई है. इस समय आप देखें तो अब यह संख्या बढ़कर रोजाना चार से छह हजार (सितम्बर २०१७) है. जिस तेजी से पाठक बढ़ रहे हैं उससे लगता तो यही है कि २०१८ की शुरुआत दस हजार पाठक प्रतिदिन होगी. 

 राजी ख़ुशी का छपा हुआ हर अंक अभी भारत के 13 राज्यों में पढ़ी जा रहा है. ये राज्य हैं :मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, उत्तरप्रदेश, बिहार, झारखण्ड, महाराष्ट्र, पंजाब, हरयाणा, उत्तराँचल, गुजरात, दिल्ली, तथा आँध्रप्रदेश. राजी खुशी के अधिक प्रसार के राज्य हैं : मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तरप्रदेश, राजस्थान, दिल्ली, हरयाणा तथा महाराष्ट्र.


राजीखुशी वेब पर तो सारी दुनिया देख और पह रही है. हाँ यह सही है कि दुनिया भर में जो लोग हिंदी भाषा जानने वाले हैं वे ही इसके पाठक हैं. हाँ ये सब अपनी सामाजिक प्रतिष्ठा वाले ही हैं और इनकी प्रतिक्रिया बहुत मायने रखती है.

इसलिए राजी ख़ुशी के पेज पर या वेब पर विज्ञापन अथवा कहानी या लेख के रूप में आना आपको आगे ले जाने में सहयोगी है. व्यवसाय का विस्तार भी बेहद तक ले जाने में राजीखुशी निश्चित ही समर्थ है.

 

 

Add comment


Security code
Refresh