• A-
  • A
  • A+

परहित जो सदा करें, जनसेवक कहलायें

परहित जो सदा करें, जनसेवक कहलायें. आत्म संतुष्टि सदा मिले जग में नाम कमाए. मायूस चेहरों पर मुस्कान लाकर जो बनाता खुशियों का समन्दर. सफलता उनके कदम चूमती औ कहलाता वही  सबका सिकंदर. मिलती सबकी दुआएं उनको परमात्मा का प्रेम भी पहुँचता उनको.